Home Projects Project News Health Nephrology Centre Dehradun Contract Signed

Open All | Close All

Nephrology Centre Dehradun Contract Signed
Hits smaller text tool iconmedium text tool iconlarger text tool icon
newlogoapollo_logo
Directorate of Medical Health and Family Welfare, Government of Uttarakhand had completed the process of bidding for Nephrology Centre and Apollo Hospitals had emerged as the successful bidder.
On February 23, 2010 Contracts was signed at the project venue in Deendayal Upadhyaya Hospital (Coronation), Dehradun between Directorate of Medical Health and Family Welfare and Apollo Hospitals, Chennai.

 

 

Project Brief

 

Sl.No

Topic

Description

1.

PPP Model

Built Operate & Transfer ( BOT) Model

2.

Concession period

Five (5) Years

3.

Concession

a) Space measuring 480 sq meters at Coronation Hospital.

b) Government Grant

4.

Government Support

a) Space at Coronation Hospital.

B) The government support as per bid outcome.

c) State government shall hand over existing furniture & fixture.

5.

Benefits to Government

a) Maximizing service availability

b) Reduction of O&M Cost

c) Free service to BPL patients

d) Transfer of Operational Risk to PPP partner

e) Extended hours of operation compared to government setup

 

 

Newspaper Coverage

Dainik Jagran – Dehradun Edition 24/02/2010

ddn23loc-20-c-3-1_1266966627

देहरादून, जागरण संवाददाता: नेफ्रोडाइलिसस। ये महंगा इलाज अब दून में सस्ती दरों पर मिल सकेगा। सरकार ने पीपीपी मोड के तहत अपोलो चेन्नई से कोरोनेशन अस्पताल में सूबे की पहली नेफ्रोलॉजी विंग स्थापित करने को हाथ मिलाया है। महज 150 रुपए में सामान्य मरीजों को यह सुविधा मिल सकेगी जबकि बीपीएल कार्ड धारकों का इलाज मुफ्त होगा। अपोलो चेन्नई को सरकार प्रति डायलिसिस 936 रुपए का भुगतान करेगी। मंगलवार को पं.दीनदयाल उपाध्याय (कोरोनेशन) अस्पताल में नेफ्रोलॉजी विंग की स्थापना को विधिवत तौर से जमीन पर उतार दिया गया। प्रमुख सचिव केशवदेसी राजू की अध्यक्षता में हुए समारोह में स्वास्थ्य विभाग की ओर से महानिदेशक डा.सीपी आर्य व अपोलो चेन्नई के चीफ एक्जीक्यूटिव आफिसर सुधीर दिलखन ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव केशवदेसी राजू ने कहा कि सरकार लोगों को सूबे में सभी प्रकार की सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए निरंतर प्रयासरत है। पीपीपी सेल व दून ग्रुप ऑफ हास्पिटल्स के निदेशक डा.सुधांशु बहुगुणा ने बताया कि नेफ्रोलॉजी विंग में प्राइवेट पार्टनर तेरह डायलिसिस मशीन, जल शोधन इकाई, वातानुकूल संयत्र व अन्य आवश्यक उपकरणों का क्रय, स्थापना व संचालन करेगा। विंग में दो नेफ्रोलाजिस्ट व पैरामेडिकल स्टाफ अपोलो चेन्नई द्वारा लाए जाएंगे। विंग पीपीपी मोड में बिल्ट, आपरेट एंड ट्रांसफर मॉडल के अंतर्गत चलेगी। डा.बहुगुणा के मुताबिक नेफ्रोलॉजी सेंटर का संचालन प्रतिदिन सोलह घंटे व अवकाश के दिनों में भी काम किया जाएगा। बीपीएल, एचआईवी व हिपेटाइटिस मरीजों को यह सुविधा निशुल्क जबकि सामान्य रोगियों के लिए 150 रुपए प्रति डायलिसिस लिए जाएंगे। इसके अलावा अन्य सामान की लागत अलग होगी। इस पर भी 15 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। अनुबंध की अवधि पांच साल होगी जबकि अपोलो चेन्नई को प्रति डायलिसिस सरकार 936 रुपए का भुगतान किया जाएगा। समारोह में दून अस्पताल के सीएमएस डा.आरके पंत, कोरोनेशन के एमएस डा.एमएस रावत, दून महिला अस्पताल की सीएमएस डा.पी डिमरी, अपोलो की ओर से रचना कुलकर्णी, डा.श्रीनागेश आदि उपस्थित थे।

 

Amar Ujala – Dehradun Edition 24/02/2010

अपोलो के साथ किया उत्तराखंड ने करार

देहरादून। मंगलवार को अपोलो अस्पताल और उत्तराखंड सरकार के बीच डायलिसिस से लेकर विभिन्न रोगों की जांच के लिए 14 सेंटर स्थापित करने पर सहमति बनी। कोरोनेशन मेनेफ्रोलॉजी यनिट के तहत ये संेटर स्थापित किए जाएंगे। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य केशव देसी राजु केमुताबिक मई माह तक यह इकाई काम करना शुरू कर देगी।

करार के तहत कोरोनेशन अस्पताल में प्रदेश सरकार की ओर से अपोलो को 450 वर्ग फीट जगह उपलब्ध कराई जा रही है। इस स्थान पर डायलिसिस और किडनी जांच के दस सेंटर बनाएजाएंगे। इसके साथ ही एचआईवी, हेपेटाइटिस और बी की जांच की सुविधा भी यहां उपलब्ध होगी। माना जा रहा है कि इस करार से प्रदेश में स्वास्थय सुविधाओं में इजाफा किया जा सकेेगा। इससे दून मंे ही अपोलों की विशेषज्ञता का लाभ भी रोगियों को मिल सकेगा। प्रमुख सचिव स्वास्थ्य के मुताबिक अधिक से अधिक लोगों तक इन सुविधाओं का लाभ पहुंचाने के लिएशुल्क को कम से कम रखने की कोशिश भी की गई है।

 

Hindustan Times –Dehradun Edition 24/02/2010

apollo


The Tribune –Dehradun Edition 24/02/2010

ddn23loc-20-c-3-1_1266966627

CP Arya, Uttarakhand Director-General of Health (left), and Sudhir Diggekar of Apollo Health Enterprise shake hands in Dehradun on Tuesday. Tribune photo: Anil P Rawat

 

Govt signs MoU with Apollo 
Tribune News Service

 

Dehradun, February 23
A Memorandum of Understanding (MoU) was today signed between Chennai-based Apollo Hospital Enterprise Limited and Director-General, Health and Family Welfare, for running the nephrology unit on a public private partnership (PPP) mode at Pandit Deen Dyal Upadhyay (Coronation) Hospital.

 

With the signing of the MoU by DG, Health, Dr CP Arya and CEO Sudhir Diggikar, Apollo Health Enterprise, a complete nephrology unit at a government hospital in the state will become functional in the coming days, proving a boon to poor patients who in the absence of such a facility at the government hospital are forced to undergo dialysis at private clinics and hospitals. The agreement with the private partner is for a period of five years.

On the occasion, Principal Secretary, Health, Keshav Desi Raju said medical services were expanding in the state. “Due to manpower crunch, we have to opt for private partners to get the services going and soon other hospitals too will have this kind of tie-up,” he added.

An committee comprising health experts and bureaucrats from time to time will monitor the performance of the services.

A 480-sq-m area has been set aside for the private partner to run the unit on the Build, Operate and Transfer basis.

“The private partner will have to install 13 dialysis machines and other important equipment along with medical and technical staff, the expenses to be borne by the private partner. The unit will be run for 16 hours and even on holidays,” said Dr Sudhanshu Bhauguna, Director, Hospitals.

The facility will be free for BPL, HIV and hepatitis patients, while those falling under the APL category will be charged Rs 150 per dialysis and addition charge on consumables will also be levied that will be 15 per cent than the market price, while the state government will have to pay Rs 936 to Apollo Enterprise per dialysis.

 

Last Updated on Wednesday, 03 March 2010 17:11